बुधवार, 3 फ़रवरी 2010

हँसी के फुव्वारे

फेरी वाला - चाकू छुरियाँ तेज करवा लो।
लल्लू - (हँसते हुए) - क्यों भाई, अक्ल भी तेज करते हो क्या?
फेरी वाला - क्यों नहीं, हो तो ले आइए।

ट्रेन में बैठे लल्लू से एक जवान लड़के ने टाइम पूछ लिया।
लल्लू बोले - देख भाई, मैं तुझे टाइम नहीं बताऊँगा क्योंकि अगर मैंने तुझे टाइम बताया तो हमारी जान-पहचान हो जाएगी और फिर अपनी दोस्ती हो जाएगी, तू मेरे घर के बारे में पूछेगा, फिर मैं तुझे अपनी जवान लड़की के बारे में बताऊँगा, फिण तू मेरे घर का पता लेगा और मेरे घर आएगा-जाएगा। मेरी लड़की तुझसे प्यार करने लगेगी और फिर तुम दोनों शादी करोगे... तो मैंने ऐसा दामाद कुएँ में फेंकना है जिसके पास अपनी घड़ी भी नहीं है।

दो वकील अदालत में बहस के दौरान व्यक्तिगत कटाक्षों पर उतर आए। एक ने कहा, 'तुम से बड़ा गधा मैंने आज तक नहीं देखा।'
दूसरे ने पलट कर कहा - 'मैंने भी आज तक तुमसे बड़ा गधा नहीं देखा।'
इस पर जज ने मेज पर हथौड़ा मारते हुए कहाँ 'आर्डर-आर्डर आप दोनों शायद भूल रहे हैं कि मैं भी यहाँ पर बैठा हुआ हूँ।'

लल्लू ने कल्लू से सवाल किया, 'एक आदमी पहली मंजिल से और एक आदमी दसवीं मंजिल से गिरता है दोनों में क्या फर्क है?'
लल्लू बोले, 'पहली मंजिल वाला पहले गिरेगा 'धम्म' और फिर करेगा आऽऽऽऽऽ और ‍दसवीं मंजिल वाला पहले करेगा' आऽऽऽऽऽ और फिर गिरेगा धम्म'।

कल्लू - मुझे तो अँग्रेजी फिल्म का बेहद शौक है। जब टाईटैनिक फिल्म आई तो मैंने पाँच बार देखी। तुमने कितनी बार देखी?
लल्लू - मुझे तो एक बार में ही समझ में आ गई थी।

बीवी - तुम मोटे होते जा रहे हो।
लल्लू - तुम भी तो मोटी होती जा रही हो।
बीवी - पर मैं तो माँ बनने वाली हूँ।
लल्लू - तो मैं भी तो बाप बनने वाला हूँ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें