शुक्रवार, 5 मार्च 2010

चुटकुले

खुशी के आँसू !
नीना (टीना से) - पता है मेरे पति के अलावा आज तक किसी गैरपुरुष ने मुझे किस नहीं किया।
टीना (नीना से) - तुम खुद पर गर्व कर रही हो या अफसोस?

चीनी किशन कन्हैया
एक दोस्त दूसरे दोस्त से, 'बिना शादी जुड़वाँ बच्चे पैदा करने पर चीनी प्रेमी-प्रेमिका उनके क्या नाम रखेंगे?
दूसरा दोस्त, 'जो हुआ, सो हुआ?

क्योंकि सास भी कभी बहू थी!
एक दोस्त दूसरे दोस्त से - बता दुनिया के सबसे सुखी और भाग्यशाली पति-पत्नी कौन थे?
दूसरा दोस्त पहले से- आदम और हौवा क्योंकि उनकी कोई सास नहीं थी।

बिना अकल की नकल!
एक लड़की को स्वेटर बुनने का बहुत शौक था। एक दिन वह एक चीनी रेस्तराँ में कॉफी पीने गई। उसने मेज पर पड़ा मीनू कार्ड देखा। मीनू कार्ड के अन्त में बना हुआ डिजाइन उसे इतना पसंद आया कि उसने उसे स्वेटर में बुनने के लिए कागज पर उतार लिया। जब वह उस डिजाइन वाले स्वेटर को पहन कर निकली तो उसे देखकर उसका ब्वाय फ्रेंड बहुत हँसा। लड़की के पूछने पर उसने बताया कि उसके स्वेटर पर चीनी भाषा में लिखा हुआ है 'बहुत ही स्वादिष्ट और बहुत ही सस्ती'।

प्रेम में परिवर्तन!
प्रेमिका (प्रेमी से) - सामने खिड़की में जो तोता-मैना बैठे हैं, दोनों रोज यहाँ आते हैं। साथ-साथ बैठते हैं, चहचहाते हैं और एक हम हैं कि हमेशा लड़ते ही रहते हैं।
प्रेमी- तुमने एक चीज पर ध्यान नहीं दिया। यहाँ बैठने वाले जोड़े में से तोता तो रोज वही होता है, पर मैना हमेशा नई होती है।

शरारत में रहस्य!
एक कुमारी का बचपन से ही कोई रोमांस नहीं हुआ था। एक दिन उसने रोमांचक सपना देखा- वह एक वन में घूमने जा रही है, तभी एक सुंदर तरुण साड़ी के पीछे से निकलकर उस पर झपटा। वह भागी लेकिन एक घने पेड़ की मधुर छाया में तरुण ने उसे पकड़ लिया।
तुम--तुम क्या करने जा रहे हो? वह हकबकाई।
शैतानी से मुस्कराकर वह बोला- तुम बताओ। यह तुम्हारा सपना है।
तो इस मादक प्रेम का परिणाम क्या है? सखी ने पूछा।
'आत्मसमर्पण' जिसका पहला छोर विवाह है, दूसरा मातृत्व। दूसरी सखी बोली।

अजब समस्या!
पत्नी - अजी, यह जो आप पैंट बार-बार ऊपर खींचते हो, वह बहुत बुरा लागता है।
पति - मेरा खयाल है अगर मैं पैंट ऊपर न खींचूँ तो और भी बुरा लगेगा।

पूँजी में वृद्धि !
शेयरों में डूबे धन का हिसाब किताब लगाते पति से मोटी सी पत्नी ने पूछा, 'सुनो, मैं बहुत मोटी हो गई हूँ, सोचती हूँ कुछ डायटिंग कर लूँ।
नहीं, तुम ऐसा कभी मत करना, तुम्हीं तो मेरी ऐसी पूँजी हो जो पहले से दोगुनी हुई है।

अनोखा उपहार!
एक प्रेमी ने सोचा कि प्रेमिका से विवाह का प्रस्ताव नए अंदाज में किया जाए। उसने एक दिन प्रेमिका से मुलाकात होने पर कहा, 'प्रिये, मैं स्वयं को तुम्हें भेंट करना चाहता हूँ।
मुझे घटिया तोहफे लेने की आदत नहीं हैं, प्रेमिका ने बुरा सा मुँह बनाकर कहा।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें