शनिवार, 16 जनवरी 2016

एक अच्छा एक्टर बनना चाहता हूं : प्रमोद

ये रिश्ता क्या कहलाता है, अफसर बिटिया, बड़े अच्छे लगते हो, देवो के देव महादेव जैसे धारावाहिको में अपने अभिनय का लोहा मनवा चुके प्रमोद शर्मा का कहना है मै अपने इस जिंदगी में एक अच्छे इंसान और अच्छे एक्टर बनने की ख्वाहिश रखता हूँ। मै आज जो कुछ भी हूँ अपनी पत्नी रूची शर्मा के बदौलत हूँ। अपने एक्टिंग जीवन में बहुत उतार चढ़ाव देख चुके प्रमोद को इस इंडस्ट्री में कई अच्छे लोग मिले तो कई बुरे लोग भी मिले। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के साथ फिल्म सत्याग्रह कर वे बेहद रोमांचित है। अब उन्होंने छत्तीसगढ़ी फिल्म की ओर कदम बढ़ाया , माटी मोर मितान में वे बतौर नायक काम किया है।
आपने अपने कॅरियर के लिए फिल्म लाईन को ही क्यों चुना?
बचपन से ही कुछ अच्छा करने की तमन्ना रही है तो आ गया। पकहले मै मुंबई गया जहां मुझे काफेई संघर्ष करना पड़ा।
इस क्षेत्र में कब से है और कैसे ब्रेक मिला?
इस क्षेत्र में मै आठ सालों से हूँ। एक ऐड पढ़कर टेस्ट देने गया था और सेलेक्ट हो गया। छत्तीसगढ़ी फिल्म कका में पहले विलेन का रोल किया था। कई धारावाहिकों में भी मैंने काम किया है।
कौन कौन से धारावाहिक में आपने काम किया है?
ये रिश्ता क्या कहलाता है , अफसर बिटिया, बड़े अच्छे लगते हो , देवो के देव महादेव जैसे धारावाहिको में मैंने काम किया है। जिससे मुझे अच्छे लोगो से मिलने का मौका मिला।
फिर आप मुम्बई छोड़कर छत्तीसगढ़ क्यों लौट आये?
मुझे छत्तीसगढ़ अच्छा लगता है। इसलिए मै छत्तीसगढ़ फिल्म ही करने की सोची है माटी मोर मितान में मेरी नायक की भूमिका है, जो अभी प्रदर्शित होने वाली है।
आपकी आगे क्या तमना है?
छत्तीसगढ़ी फिल्मो में  नाम कमाना चाहता हूँ। छत्तीसगढ़ , छत्तीसगढ़ी फिल्मो और छत्तीसगढ़ी भाषा के प्रति मुझे बहुत लगाव है। मै इसके के लिए कुछ करना चाहता हूँ , जिससे छत्तीसगढ़ का नाम मेरे साथ जुड़े।आपके प्रेरणाश्रोत कौन है?
मेरी पत्नी रूचि शर्मा ही मेरी प्रेरणाश्रोत है। उन्होंने मुझसे एक दिन कहा था कि मै आपको बड़े परदे पर देखना चाहती हूँ और उन्होंने मेरा बहुत ही हौसला बढ़ाया ,जिसके कारण आज मै इस मुकाम पर हूँ।
आप अपना आदर्श किसे मानते है?
अमिताभ बच्चन जी को। वे बहुत ही नेकदिल इंसान है। मैंने उनके साथ फिल्म सत्याग्रह किया है। एक बार मै अपने भतीजे से फोन पर बात कर रहा था तभी अमिताभ जी ने मुझे फोन लेकर मेरे भतीजे से करीब 5 मिनट तक बात की , जो मेरे लिए गर्व की बात है।
अपने इस जीवन में कभी निराशा मिली है?
हाँ, शुरुआत में मुझे बहुत से गलत इंसान मिले तो मै निराश हो गया था तब मेरी पत्नी ने मेरा हौसला बढ़ाया।
सबसे ज्यादा उत्साहित कब हुए ?
अमिताभ बच्चन से मिलकर । वो मेरी जिंदगी का सबसे खुशनुमा पल रहा है।
भविष्य की क्या योजना है ?
बस एक अच्छा इंसान और एक अच्छा एक्टर बनने की तमन्ना है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें