बुधवार, 3 नवंबर 2010

मेष:इस दिवाली पर मंगलदेव को भी पूजें

दीपावली का दिन सिद्ध पर्व माना जाता है, इस दिन की गई पूजा विशेष फलदायी होती है। यदि इस दिन लक्ष्मीजी की पूजा के साथ अपनी राशि के अधिपति देवकी विधि विधान से पूजा की जाए तो हमारा जीवन धन-समृद्धि के साथ सुख और ऐश्वर्य से भर जाता है।

मेष राशि वाले मां लक्ष्मी की प्रसन्नता के लिए एवं इस पर्व पर पूजा का पूर्ण फल प्राप्त करने के लिए अपनी राशि के अनुसार मंगल देव की विशेष पूजा करें।
- पूजा घर में महालक्ष्मी के पास ही अपने राशि के स्वामी मंगल देव की स्थापना करें।
मंगल की स्थापना पूर्व दिशा में करें।
- इसके लिए खेर या लाल चंदन की लकड़ी से बने सिंहासन का उपयोग करें।
- उस पर मंगल देव के रंग के अनुसार लाल रंग का कपड़ा बिछाएं।
- उस पर गेंहु रखें और गेंहु पर मंगल देव के लिए पूजा की सुपारी रखें।
- सुपारी में मंगल देव की स्थापना करें तथा पूजा करें।
- पूजा के बाद तांबे का दीपक प्रज्वलित करें और गुड़ का नैवेद्य लगाएं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें