सोमवार, 6 जून 2011

गौमूत्र छिड़कने से बढ़ती है समृद्धि क्योंकि...

भारतीय संस्कृति में गाय को माता माना गया है। कहा जाता है कि गाय का मुख अशुद्ध होता है और शरीर का पिछला भाग शुद्ध होता है।
घर में गौ मूत्र छिड़कने के साथ ही सुबह शाम भगवान के समक्ष गाय के दूध से निर्मित घी का दीपक लगाने से इस से घर के सभी वास्तुदोष दूर होते हैं। साथ ही घर में सक्रिय नेगेटिव एनर्जी का प्रभाव खत्म हो जाता है। घर का वातावरण शुद्ध होता है और सभी सदस्य निरोगी बने रहते हैं।
गाय की सेवा से लक्ष्मी सहित सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि गाय के शरीर में सभी देवी-देवताओं का वास होता है। इसी वजह से गाय की सेवा का अक्षय पुण्य प्राप्त होता है। गाय की सेवा से सभी सुखों को देने वाले भगवान शिव भी प्रसन्न होते हैं।गोमूत्र को भी घर से दोष दूर करने में उपयोग किया जाता है। घर में गोमूत्र छिड़कने से घर के सभी वास्तुदोषों निष्क्रिय हो जाते हैं। गोमूत्र के प्रभाव से घर में फैले सभी हानिकारक कीटाणु नष्ट हो जाते हैं। साथ ही देवी लक्ष्मी की विशेष कृपा बनी रहती है। इसीलिए घर में गौ मूत्र छिड़कने से समृद्धि बढ़ती है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें