रविवार, 9 अगस्त 2015

नाम और शोहरत चाहती है अहाना

सफल अभिनेत्री बनने की तमन्ना है
छत्तीसगढ़ फिल्म इंडस्ट्री में अहाना फ्राँसिस एक नया नाम है, लेकिन कला उनमे कूट-कूट कर भरा हुआ है। अहाना को फिल्मो में काम करने का जूनून है। वह कहती है कि उनकी तमन्ना एक सफल अभिनेत्री बनने की है पर वह सभी प्रकार की भूमिका निभाना चाहती ताकि उन्हें एक नया अनुभव हो। उन्हें छालीवुड में सिर्फ नाम और शोहरत चाहिए। लोगो का प्यार और तालियां मुझे मिला तो मुझे अपार खुशी होगी। अहाना से हमने हर पहलूओं पर बेबाक बात की है। प्रस्तुत है बातचीत के संपादित अंश।
0 आपको एक्टिंग का शौक कब से है ?
00 मुझे एक्टिंग का शौक बचपन से ही रहा है। टीवी देख- देखकर मैं कलाकारों की नक़ल किया करती थी। अभी तो मेरे  कॅरियर की शुरुआत है । एक्टिंग में रूचि बचपन से ही था पर मौका नहीं मिल रहा था। मैं बहुत कुछ करना चाहती हूँ इस क्षेत्र में ।
0 फिर मौका कैसे मिला और आपके प्रेरणाश्रोत कौन है ?
00 मेरी प्रेरणाश्रोत मेरी माँ अंजना फ्रांसिस ही है ही हैं । हर वक्त वो मेरे साथ होती है। अच्छे बुरे सभी पलों में मुझे उनका साथ मिला और मैं आत्मविश्वास से काम करने लगी । उन्होंने ही मुझे इस लाईन में काम करने के लिए प्रेरित किया है। बगैर परिवार के सहयोग के इस लाईन में काम करना संभव नहीं था । और मौका मुझे मनोजदीप के चलते मिला।
0 कभी आपने सोचा था की फिल्मो को ही अपना कॅरियर बनाएंगी ?
00 नहीं ! पर मुझे रुचि थी। मेरी माँ चाहती थी की परिवार से कोई इस क्षेत्र में आये। उनकी इच्छा से मैं फिल्मो में आई हूँ । उनका सपना मुझे पूरा करना है।
0  छालीवुड फिल्मो में आपको कैसी भूमिका पसंद है या आप कैसे रोल चाहेंगी।
00 वैसे तो मुझे लीड रोल करने की इच्छा है फिर भी मैं हर तरह की भूमिका निभाना चाहूंगी ताकि मुझे सभी प्रकार का अनुभव हो।
0 आपको फिल्मों में सबसे ज्यादा कौन पसंद है?
00 दीपिका पादुकोण , मैं उनकी एक्टिंग पर फि़दा हूँ। जब वो भूमिका में होती हैं तो एकदम सच लगता है।
0 कोई ऐसा अवसर आया हो ,जब आप बहुत उत्साहित हुई हो?
00 जब पहली बार मुझे फिल्मो में काम मिला ।
0 आपने पहली फिल्म बेर्रा की है , तो आपको कैसा महसूस हुआ , कोई चूनौती तो नहीं ?
00 जब मैं कोई भूमिका निभाती हूँ तो मुझे गर्व मेहसूस होता हैं की मैं अपने रोल को बखूबी से कर पा रही हूँ। बेर्रा मेरी पहली फिल्म है। मुझे अपनी भूमिका अच्छा ही लगा। कोई चुनौती नहीं थी।
0 रील लाइफ और रीयल लाइफ में क्या अंतर है?
00 दोनों अलग अलग चीज है। रील लाइफ चुनौतीपूर्ण होती है उसमे कई करेक्टर होते है और रियल लाइफ में एक ही करेक्टर को जीना होता है।
0 ऐसा कोई क्षण जब निराशा मिली हो?
00 कभी नहीं। मैं कभी निराश नहीं होती, क्योकि मेरे माता-पिता का प्यार साथ होता है।
0 आपका कोई सपना है जो आप पूरा होते देखना चाहती हैं?
00 मेरा सपना है  कि मै एक सफल अभिनेत्री बनूँ और खूब नाम और शोहरत कमाऊं । मैं अपने इस सपने को पूरा होते देखना चाहती हूँ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें