शनिवार, 12 दिसंबर 2015

फिल्म को ही कॅरियर बनाउंगी : सुहानी

गायिका बनने की चाहत है , मेरा शौक भी है 
हिन्दी फिल्म मीराधा की नायिका सुहानी जेठलिया कहती है की गायन मेरा शौक है और चाहत भी,लेकिन अब
फिल्म को ही अपना कैरियर बनाउंगी। जब इंडस्ट्री में आ ही गयी हूँ तो पीछे नहीं हटूंगी। इस फिल्म में छत्तीसगढ़ के अमिताभ कहे जाने वाले अशोक मालू ने भी काम किया है। उनका कहना है कि मुझे हर तरह के रोल करने की इच्छा है मीराधा में नायिका हूँ ,और अपनी भूमिका के साथ बहुत ही मेहनत की है। दैनिक सन स्टार ने उनसे हर पहलूओं पर बेबाक बात की।
0 फिल्म मीराधा में आपका क्या रोल है और कैसे कर पा रही है?
00 ये मेरी पहली फिल्म है मुझे नायिका का रोल दिया गया है। इसमें मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला है। मैंने एक आधुनिक लड़की राधा का किरदार निभाया है। इस फिल्म में बहुत मेहनत की है।
0  क्या है इस फिल्म में दर्शकों के लिए?
00 इस फिल्म में एक सन्देश है जो दर्शकों को पसंद आएगा। इसमें सब कुछ है दो नायिका और एक नायक है । आप अपने जिंदगी को कैसे जी सकते है इस फिल्म में बेहतर तरीके से बताया गया है। इस फिल्म को लेकर हम आश्वस्त हैं।
0  पहली बार कैमरे के सामने आने से डर नहीं लगा?
00 जी नहीं बिलकुल डर नहीं लगा। हम सब ने इसमें एक साथ कैमरे का सामना किया है।
0 इस फिल्म की क्या सम्भावनाये दिखती है?
00 बेहतर है। उम्मीद है कि और बॉलीवुड की अन्य फिल्मो की तरह ही चलेंगी। इसमें सब कुछ है। आप देखिये ,हमें तो पूरी उम्मीद है।
0 आपको एक्टिंग का शौक कब से है ?
00 मुझे एक्टिंग का शौक बचपन से ही रहा है। स्कूल में भी एक्टिंग किया करती थी। कई नाटकों में भाग लिया था। वैसे मेरा रुझान गायन की तरफ ही रहा है।
0 फिर मौका कैसे मिला और आपके प्रेरणाश्रोत कौन है ?
00 एक्टिंग मैंने खुद से सीखा है । मेरा कोई रोल मॉडल नहीं है। मेरे पिता श्री सूर्यप्रकाश जेठलिया इस फिल्म के निर्माता है और मेरे प्रेरणास्रोत भी। मेरे लगन को देखकर उन्होंने मुझे फिल्म करने के लिए प्रोत्साहित किया। उनके ही कारण मैं फिल्म में अच्छे से रोल कर पाई हूँ।
0 कभी आपने सोचा था की फिल्मो को ही अपना कॅरियर बनाएंगे ?
00 नहीं ! मेरा रुझान गायन की और ही था। एक्टिंग करने की कभी नहीं सोची थी । अब इसी लाईन पर काम करती रहूंगी, पीछे नहीं हटूंगी ।
0 आपका कोई सपना है जो आप पूरा होते देखना चाहती हैं?
00 हाँ मै छाहती हूँ कि मीराधा खूब चले जनता मेरी एक्टिंग को सराहे। इस फिल्म में मैंने दो गाने गाये है।
0 कभी आपको निराशा हुयी और सबसे ज्यादा उत्साहित कब हुई थी?
00 निराश कभी नहीं हुई हूँ। पर फिल्म में पहले और आख़िरी दिन मुझे खूब खुशी हुई थी क्योकि इससे मेरे जीवन में एक नया मोड़ आया है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें